Sun Sadayein De Rahi Hai Manzil Pyar Ki Lyrics – Qayamat Se Qayamat Tak

Sun Sadayein De Rahi Hai Manzil Pyar Ki Lyrics - Qayamat Se Qayamat Tak

Aye Mere Humsafar Lyrics from Qayamat Se Qayamat Tak movie. Song sung by Udit Narayan and Alka Yagnik. Music is given by Anand Milind and Starring Aamir Khan, Juhi Chawla.

SingerUdit Narayan & Alka Yagnik
MusicAnand Milind
Song WriterMajrooh Sultanpuri

Aye Mere Humsafar Lyrics

Ae mere humsafar ek zara intezar
Sun sadayein de rahi hain manzil pyar ki
Ae mere humsafar ek zara intezar
Sun sadayein de rahi hain manzil pyar ki

Ab hai judaai ka mausam
Do pal ka mehman
Kaise naa jayega andhera
Kyun naa thamega tufan

Ab hai judai ka mausam
Do pal ka mehman
Kaise na jayega andhera
Kyun na thamega tufan

Kaise naa milegi manzil pyar ki
Ae mere humsafar ek zara intezar
Sun sadayein de rahi hain manzil pyar ki

Pyar ne jahan pe rakha hai
Jhoom ke kadam ek baar
Vahin se khula hai koi rasta
Vahin se giri hai dewaar

Pyar ne jahan pe rakha hai
Jhoom ke kadam ek baar
Vahin se khula hai koi rasta
Vahin se giri hai dewaar

Roke kab ruki hai manzil pyar ki
Ae mere humsafar ek zara intezar
Sun sadayein de rahi hai manzil pyar ki
Ae mere humsafar ek zara intezar
Sun sadayein de rahi hai manzil pyar ki

Aye Mere Humsafar Hindi Lyrics

ऐ मेरे हमसफ़र, एक ज़रा इन्तज़ार
सुन सदाएं, दे रही हैं, मंज़िल प्यार की
ऐ मेरे हमसफ़र, एक ज़रा इन्तज़ार
सुन सदाएं, दे रही हैं, मंज़िल प्यार की

अब है जुदाई का मौसम
दो पल का मेहमां
कैसे ना जाएगा अंधेरा
क्यूँ ना थमेगा तूफां

अब है जुदाई का मौसम
दो पल का मेहमां
कैसे ना जाएगा अंधेरा
क्यूँ ना थमेगा तूफां

कैसे ना मिलेगी, मंजिल प्यार की
ऐ मेरे हमसफ़र, एक ज़रा इन्तज़ार
सुन सदाएं, दे रही हैं, मंज़िल प्यार की

प्यार ने जहाँ पे रखा है
झूम के कदम इक बार
वहीं से खुला है कोई रस्ता
वहीं से गिरी है दीवार

प्यार ने जहाँ पे रखा है
झूम के कदम इक बार
वहीं से खुला है कोई रस्ता
वहीं से गिरी है दीवार

रोके कब रुकी है, मंज़िल प्यार की
ऐ मेरे हमसफ़र, एक ज़रा इन्तज़ार
सुन सदाएं, दे रही हैं, मंज़िल प्यार की